Uncategorized

गुरु नानकजी |

एक बार गुरु नानकजी से किसीने पूछा –
”५ छिद्रोंवाली घड़े को पानी से कैसे भरेंगे ?”
गुरु नानकजी ने मुस्कान के साथ उत्तर दिया –
”पानी में ही घडे को डुबा रहने दो। …. भरा ही
रहेगा ”
तन की जाने, मन की जाने
जाने चित्त की चोरी
उस प्रभु से क्या छिपावे, जिसके हाथ में है
सब की डोरी। .. !!
इसी तरह हमारी पांच इन्द्रियां परमात्मा में ही
डूबी रहेँगी तो , संसार क्या बिगाड़ लेगा |

Source:Sent by Vidya from Mumbai.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s